• Mon. Jun 24th, 2024

पत्नी से प्रताड़ित पति ने पुलिस अधीक्षक से लगाई न्याय की गुहार थाने पर मांगा जा रहा है पैसा

Bytennewsone.com

Mar 2, 2024
10 Views

पत्नी से प्रताड़ित पति ने पुलिस अधीक्षक से लगाई न्याय की गुहार थाने पर मांगा जा रहा है पैसा



टेन न्यूज़ !! 02 मार्च २०२४ !! वसीम खान ब्यूरो, रायबरेली


महिला उत्पीड़न के कई मामले आप लोगों ने देखे होंगे सुने भी होंगे लेकिन आज एक ऐसा ही मामला तहसील दिवस में देखने को मिला जहां एक युवक अपनी पत्नी से ही इतना प्रताड़ित हो गया कि कुछ दिन पहले उसने जहर खाकर आत्महत्या करने की कोशिश भी की गलीमत रही कि सही समय पर परिजनों के द्वारा अस्पताल पहुंचने पर उसकी जान बच सकी ।

दरअसल पूरा मामला रायबरेली के महाराजगंज थाना क्षेत्र के ग्राम कुसुमहुरा का है जहां के रहने वाले अनवर अली पुत्र शाफिकुल हसन के द्वारा तहसील दिवस में पहुंचकर पुलिस अधीक्षक से न्याय की गुहार लगाते हुए बताया कि कई बार मेरी पत्नी के द्वारा गैर व्यक्ति से बात करने पर इसका विरोध किया गया जिस पर ससुराल पक्ष के द्वारा लगातार मुझे वह मेरे परिवार को धमकाया जाता था प्रताड़ित किया जाता था

जिससे तंग आकर मैंने जहर खाकर अपने जीवन लीला समाप्त करने की भी सोच ली थी थाने पर तहरीर देने के बाद भी मेरी कोई मदद नहीं की गई बल्कि थाने पर तैनात एक सिपाही के द्वारा मुझे कार्यवाही के एवज में पैसे की मांग भी की गई मेरे ससुराल पक्ष जो की लकड़ी की ठेकेदारी करते हैं और थाने पर उनकी अच्छी पकड़ होने के कारण थानेदार के द्वारा मेरी कोई भी मदद नहीं की जा रही है उल्टा मुझे ही फर्जी मुकदमे में फंसा कर जेल भेज देने की बात कही जा रही है

मेरे पिताजी भी दोनों पैर से विकलांग है और घर की माली स्थिति भी ठीक नहीं है मजदूरी कर अपना जीवन यापन करते हैं पीड़ित पक्ष में पुलिस अधीक्षक से तहसील दिवस में पहुंचकर न्याय की गुहार जरूर लगाई है गौरतलब हो कि पुलिस अधीक्षक अभिषेक अग्रवाल के द्वारा रायबरेली पद ग्रहण करने के बाद उन्होंने साफ तौर पर कहा था कि थाने पर ही समस्याओं का निस्तारण करें

फरियादी पुलिस अधीक्षक कार्यालय अगर पहुंचेंगे तो उसके जिम्मेदार थाना अध्यक्ष होंगे लेकिन इसका असर होता रायबरेली में नहीं दिख रहा है फिलहाल अपनी छवि को लेकर जहां पुलिस अधीक्षक पहचाने जाते हैं अब देखने वाली बात यह होगी कि इस प्रकरण में पुलिस अधीक्षक को जानकारी हो जाने के बाद संबंधित थाने पर क्या पीड़ित को न्याय मिल पाता है या नहीं या देखने वाली बात होगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *