• Fri. Jun 21st, 2024

प्रगतिशील कृषक अब नेशनल पेस्ट सर्विलांस सिस्टम (एन पी एस एस) के द्वारा स्वयं ही कर सकेंगे कीट और बीमारियों की पहचान

Bytennewsone.com

Mar 5, 2024
8 Views

प्रगतिशील कृषक अब नेशनल पेस्ट सर्विलांस सिस्टम (एन पी एस एस) के द्वारा स्वयं ही कर सकेंगे कीट और बीमारियों की पहचान



टेन न्यूज़ !! 05 मार्च २०२४ !! प्रभाष चन्द्र ब्यूरो, कन्नौज


भारत सरकार के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के लखनऊ स्थित क्षेत्रीय केंद्रीय एकीकृत नाशीजीव प्रबंधन केंद्र के प्रभारी डा. ज्ञान प्रकाश सिंह, संयुक्त निदेशक के निर्देशन एवं प्रमोद सिरोही, उप-निदेशक कृषि के सहयोग से जनपद स्थित उप-कृषि निदेशक कार्यालय में जिले के विभिन्न विकास खण्ड से आए हुए किसानों को नेशनल पेस्ट सर्विलांस सिस्टम (एन पी एस एस) ऐप के बारे में भारत सरकार की टीम द्वारा प्रशिक्षित किया गया।

जिला कृषि रक्षा अधिकारी अविशांक सिंह चौहान ने किसानों को कीड़े – बीमारियों की पहचान के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि यह ऐप किसानों के लिए अत्यंत लाभदायक होगा। रीजनल सेंट्रल आई पी एम सेंटर लखनऊ के सहायक वनस्पति संरक्षण अधिकारी डॉ राहुल सुतार ने एन. पी. एस. एस. ऐप की वर्तमान उपयोगिता एवं प्रासंगिकता के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि ऐप के माध्यम से प्रशिक्षित किसान फसलों को नुकसान पहुंचाने वाले कीड़े -बीमारियों की पहचान आसानी से कर सकेंगे

सहायक वनस्पति संरक्षण अधिकारी धर्मराज सिंह ने जानकारी देते हुए कहा कि कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा तैयार किए गए एन पी एस एस ऐप के माध्यम से फसल को नुकसान पहुंचाने वाले कीड़े – बीमारियों की पहचान के साथ -साथ किसान अपने खेत से उन कीड़े – बीमारियों की फोटो के साथ आवश्यक डाटा फीडिंग करके सीधे कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय भारत सरकार को अपने गांव से ही कीड़े – बीमारियों की सूचना भेज सकते हैं तथा उनके अत्यधिक प्रकोप की स्थिति में ऐप के माध्यम से ही उनके प्रबंधन से सम्बन्धित ऐडवाइजरी मोबाइल पर ही प्राप्त कर सकते हैं। सहायक वनस्पति संरक्षण अधिकारी फराज़ अहमद खान ने एन पी एस एस ऐप के उपयोग की विधि तथा पेस्ट सर्विलांस के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान किया।

उन्होंने एन पी एस एस ऐप में किसानों को कीड़े बीमारियों के फोटो अपलोड करने एवं पेस्ट डेटा एंट्री की तकनीक के बारे में भी विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान किया। कार्यक्रम में विभिन्न विकास खण्ड के प्रगतिशील कृषक उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed