• Fri. Jun 14th, 2024

स्क्रैप माफिया रवि काना और उसकी प्रेमिका काजल झा की जमानत याचिका एक बार फिर गौतमबुद्ध नगर कोर्ट ने की खारिज

Bytennewsone.com

May 28, 2024
37 Views

स्क्रैप माफिया रवि काना और उसकी प्रेमिका काजल झा की जमानत याचिका एक बार फिर गौतमबुद्ध नगर कोर्ट ने की खारिज



टेन न्यूज़ !! २८ मई २०२४ !! गीता बाजपेई ब्यूरो, नोएडा


स्क्रैप माफिया रवि काना और उसकी प्रेमिका काजल झा की जमानत याचिका एक बार फिर गौतमबुद्ध नगर कोर्ट ने खारिज कर दी है।

बचाव पक्ष की तरफ से दोनों की जमानत के लिए याचिका दाखिल की गई, लेकिन कोर्ट ने अभी जमानत देने से साफ तौर पर इंकार कर दिया है। उनके ऊपर लगातार एक्शन हो रहे हैं। यह सुनवाई सोमवार को गौतमबुद्ध नगर जिला न्यायालय में हुई। दोनों इस समय ग्रेटर नोएडा की लुक्सर जेल में बंद है।

इससे पहले शुक्रवार को गैंगरेप मामले में सुनवाई हुई। जिसमें मुख्य आरोपी रवि काना की जमानत याचिका को कोर्ट ने खारिज कर दिया। आरोप है कि रवि काना ने अपने साथियों के साथ मिलकर एक युवती के साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया था।

गैंगरेप वाली घटना गार्डन गैलरिया नोएडा की है। इससे पहले काफी बार गैंगरेप मामले में सुनवाई हो चुकी है, लेकिन मामला संगीन होने की वजह से जमानत याचिका को खारिज कर दिया जाता है। अभी भी रवि काना की 250 करोड़ रुपए से अधिक की प्रॉपर्टी को जब्त किया जा चुका है। गैंगस्टर एक्ट के तहत रवि काना और उसकी गर्लफ्रेंड काजल झा के ऊपर ताबड़तोड़ एक्शन हो रहे हैं।

गौतमबुद्ध नगर और वेस्ट यूपी के बड़े सरिया माफिया रवि काना ने अपने साथियों के साथ मिलकर गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया। इस मामले में पीड़िता ने पुलिस को शिकायत देते हुए बताया, “मैं नौकरी की तलाश में नोएडा आई थी। मुझे राजकुमार नामक एक व्यक्ति मिला।

उसने पेपर के साथ बरौला बुलाया। वहां पर राजकुमार और उसका साथी महेमी मिले। दोनों ने मुझसे कहा कि रवि हमारे सर हैं। हम आपको उनसे मिलवा देंगे और वह आपकी जॉब लगवा देंगे। मैंने उनकी बातों पर विश्वास कर लिया।

” युवती का आगे कहना है, “विगत 19 जुलाई 2023 को राजकुमार और महेमी मझे गार्डन गलेरिया मॉल लेकर गए। वहां पर राजकुमार और महेमी के साथ कार में बैठकर गई थी। उन दोनों ने गाड़ी पार्किंग में लगा दी। वहां पर तीन लड़के आए। मुझसे उनका परिचय रवि, आजाद और विकास के रूप में करवाया गया।”
“इन सभी के हाथों में बंदूक थीं। रवि ने मुझको गाड़ी में बैठा लिया और मेरे कपड़े उतार कर गलत काम किया। इस दौरान रवि ने वीडियो बना लिया था।

विरोध करने पर कहा कि हम बहुत दबंग हैं। किसी से डरते नहीं हैं। अगर यह बात किसी को बताई तो मैं तुम्हारा वीडियो वायरल कर दूंगा। मुझे और मेरे परिवार को जान से मारने की धमकी दी गई। जिसकी वजह से मैं काफी डरी हुई थी। यह लोग मुझे काफी परेशान कर रहे हैं। ब्लैकमेल करते हैं। जिसकी वजह से मैंने कोतवाली में शिकायत दी है।”

रवि और काजल की गिरफ्तारी 23 अप्रैल को थाईलैंड के बैंकॉक से हुई थी। पुलिस ने दोपहर करीब 1:00 बजे दोनों को गिरफ्तार किया था। उसके बाद 25 अप्रैल की रात 11:30 बजे दोनों दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर पहुंचे।

वहां पर 26 अप्रैल की सुबह करीब 2:30 बजे इमीग्रेशन की कार्रवाई पूरी हुई। 26 अप्रैल की सुबह 7:30 बजे नोएडा पुलिस को सूचना मिली। उसके बाद 26 अप्रैल की दोपहर 2:00 बजे नोएडा पुलिस की टीम एयरपोर्ट पर पहुंची।

शाम 4:00 बजे दोनों को पुलिस नॉलेज पार्क थाने लेकर आई और पूछताछ शुरू की गई। उसके बाद 27 अप्रैल की दोपहर 2:00 बजे रवि काना और काजल झा को जिला अदालत में पेश किया गया। वहां से दोनों को जेल भेज दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed